Author: सुनील मिश्र

नाटक : शकुन्तला की अंगूठी

भारत भवन में आयोजित राष्ट्रीय नाट्य समारोह की अन्तिम प्रस्तुति थी शकुन्तला की अंगूठी जिसे मध्यप्रदेश नाट्य विद्यालय के कलाकारों ने वरिष्ठ रंगकर्मी और विद्यालय के प्राध्यापक आलोक चटर्जी के निर्देशन में मंचित किया। सुरेन्द्र वर्मा लिखित यह नाटक अव्यावसायिक रंगकर्मियों के एक समूह के पूर्वाभ्यास पर केन्द्रित है जो महाकवि कालिदास की रचना के मंचन की तैयारी कर रहा है। नाटक की कथावस्तु में विषयानुकूल पूर्...Read More

हिमानी शिवपुरी : ऐसा नाम जिसने देखा हिंदी सिनेमा का बदलता हुआ दौर

हिमानी शिवपुरी को हाल ही में संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। मन से कलाकार हिमानी के लिए यह भावपूर्ण क्षण था जब माननीय राष्ट्रपति ने उनको इस सम्मान से विभूषित किया। इस सम्मान के साथ ही वे एक लम्बे समय बाद प्रस्तुति के लिए रंगमंच की ओर लौटीं जहाँ से उनकी कलायात्रा शुरू हुई थी। सम्‍मान के प्रत्‍युत्‍तर में उन्‍होंने अकेली शीर्षक नाटक का मंचन भी किया। अस्सी के दशक में राष्ट्रीय नाट...Read More

Lost Password

Register