Author: बहादुर पटेल

कविता भाषा में मनुष्य होने की तमीज है..!

जब हम साहित्य या साहित्य की किसी विधा की बात करते हैं, तो हमें उसके इतिहास के साथ साथ समग्रता में उसके विकास की बात भी करनी होगी। यहां जब हम उत्तर शती की हिंदी कविता पर बात करते हुए समाज और संवेदना के बरक्स कविता की क्या भूमिका रही और कविता पर क्या प्रभाव पड़े यह भी देखना पड़ेगा। किसी भी विषय पर बात करते समय हम यह तय भलें ही कर दें कि उत्तर शती पर बात करें, लेकिन हमें पीछे भी जाना होगा। देखना होगा क...Read More

Lost Password

Register