Share This Post

कैनवास पर कुदरत की सैर – अमिता खरे की चित्र प्रदर्शनी

कैनवास पर कुदरत की सैर – अमिता खरे की चित्र प्रदर्शनी

gwalior-fort-amita-khare-bharat-bhavanरूपाभ शृंखला के तहत मंगलवार से भारत भवन, भोपाल में शुरू हुई एकल चित्र प्रदर्शनी में ग्वालियर की चित्रकार अमिता खरे ने देश-विदेश के खूबसूरत दृश्यों को कैनवास पर पेंट किया है। अमिता ने चित्र प्रेमियों को कैनवास के जरिये कुदरत की सैर कराई है। इसमें उनकी सालों की मेहनत झलकती है।

कुदरत की खूबसूरती से भरे चित्र आम से लेकर खास सभी को पसंद आ रहे हैं। यह वो चित्र हैं, जो हमेशा दिलो-दिमाग को सुकून देते हैं। पहाड़ों के बीच बहती हुई नदी, ऊंचे-ऊंचे पेड़, खूबसूरत फूल, समुद्र में डूबता सूरज, किसी नदी किनारे बना छोटा मंदिर…। कैनवास पर उतरे इन चित्रों को देखने के लिए कई दर्शक भारत भवन पहुँच रहें हैं।

अमिता ने बताया, “मैंने दो विधा में काम किया है, एक्रेलिक ऑन कैनवास और पेपर ऑन वॉटर कलर। लेकिन एक्रेलिक कलर से बनाए चित्रों में स्ट्रोक वॉटर कलर विधा के दिए हैं। यह प्रयोग इन चित्रों को अलग बनाता है।

amita-khare-bharat-bahvanअमिता कहती हैं, “अक्सर चित्र प्रदर्शनी के लिए देश-विदेश की यात्रा पर रहती हूं। कुछ महीनों पहले गुवाहाटी से लौट रही थी। थोड़े देर के लिए जलपाईगुड़ी गांव में रुके। वहां मैंने देखा, महिलाएं लकड़ी से बने बर्तनों का इस्तेमाल करती है। तुरंत स्कैच बुक निकाल कर चित्र बनाना शुरू कर दिया। इसमें ग्वालियर का किला भी खास है।

1 अक्टूबर तक चलने वाली प्रदर्शनी को दोपहर 2 से रात 8 बजे तक देखा जा सकता है।

via:dainik bhaskar

Lost Password

Register