Share This Post

इप्टा का 14वां राष्ट्रीय अधिवेशन एवं जन सांस्कृतिक महोत्सव 2 अक्टूबर से इंदौर में

इप्टा का 14वां राष्ट्रीय अधिवेशन एवं जन सांस्कृतिक महोत्सव 2 अक्टूबर से इंदौर में

भारतीय जन नाट्य संघ (इप्टा) का 14 वां राष्ट्रीय अधिवेशन एवं राष्ट्रीय जन सांस्कृतिक महोत्सव का उद्घाटन कल स्थानीय आनंदमोहन माथुर सभागृह में होगा। उद्घाटन सत्र की शुरूआत प्रातः 10 बजे से सुप्रसिद्ध फिल्मकार एवं इप्टा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री एम.एस. सथ्यू के उद्घाटन वक्तव्य से होगी। जन संस्कृति महोत्सव का उद्घाटन फिल्मकार आनंद पटवर्धन करेंगे। इस अवसर पर देश-विदेश के अन्य समानधर्मा संगठनों के प्रतिनिधियों द्वारा एकजुटता संदेश प्रेषित किया जायेगा। आयोजन में क्यूबा और वेनेजुएला के राजदूतों सहित देश भर के कोई 1000 प्रतिनिधि, रंगकर्मी, कलाकार, लेखक-कवि शिरकत करेंगे।

14th-national-conference-of-ipta-and-national-cultural-festivalजन संस्कृति महोत्सव में नृत्य, नाटक, संगीत, चित्रकला, फोटोग्राफी, माइम, नृत्य-नाटिका, कविता पोस्टर प्रदर्शनी, चित्रकला प्रदर्शनी का समावेश होगा। दृश्य-श्रव्य प्रस्तुति होगी तथा विभिन्न पुस्तिकाओं, सीडी-आदि का विमोचन होगा। देशभर के कोई 20 राज्यों से इप्टा के प्रतिनिधियों के सम्मेलन में भाग लेने के लिए रवाना होने की खबर है।

सम्मेलन में जो नामचीन शख्सियतें हिस्सा ले रही हैं, उनमें एम.एस. सथ्यू और आनंद पटवर्धन के अलावा रणबीर सिंह, वेदा-राकेश, अंजन श्रीवास्तव, नूर जहीर, सुमंगला दामोदरन, कुमार अंबुज, अली जावेद, पवन करण आदि के नाम भी शामिल हैं। कई सालों बाद इप्टा के पूर्व महासचिव जितेन्द्र रघुवंशी की कमी इस अधिवेशन में खलती रहेगी। उन्हीं के कुछ दिनों बाद रंगचिंतक-अभिनेता जुगलकिशोर भी चल बसे थे। जितेंन्द रघुवंशी को श्ऱ़द्वांजलि स्वरूप उन पर एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म प्रदर्शित की जायेगी और जुगलकिशोर की याद में उनके द्वारा निर्देशित नाटक ‘बह्म का स्वांग’ लखनऊ इप्टा द्वारा खेला जायेगा।

कार्यक्रम की विस्तृत रूपरेखा यहाँ देखें

इप्टा नामा

राष्ट्रीय सम्मलेन. भारतीय जन नाट्य संघ – इप्टा

Lost Password

Register